10 मिनट में मसाला डोसा घर पर | Best Masala Dosa Kaise Banta Hai In hindi

Masala Dosa Kaise Banta Hai In hindi  –  इस ब्लॉग में जानेंगे की डोसा एक साउथ इंडियन पॉपुलर डिश है, डोसा एक बहुत ही स्वादिष्ट व्यंजन हैं जिसे आप कभी भी किसी भी वक्त खा सकते हैं। यह खाने में काफी हल्का होने के कारण आसानी से बचाया जा सकता है और इसे बनाना भी काफी आसान है।

Masala Dosa Kaise Banta Hai

मसाला डोसा में आलू और प्याज मसालेदार का मिक्सचर होता है, जिसे चावल और उड़द दाल के घोल से पतले डोसे के बीच में रखकर परोसा जाता है 

मसाला डोसा की उत्पति कर्नाटक के उडुपी में हुई थी। यह एक ऐसा व्यंजन है जो सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि दुनिया में बड़े चाव से खाया जाता है। इसे ब्रेकफास्ट, ब्रंच, लंच यहां त​क की डिनर में भी बनाकर खा सकते हैं क्योंकि इसे पचाना काफी आसान है साथ यह लो कैलोरी भी होता है।

Table of Contents

Video दिखाये – (Masala Dosa Kaise Banta Hai In hindi)

Masala Dosa Kaise Banta Hai

मसाला डोसा रेसिपी – (Masala Dosa Kaise Banta Hai In Hindi)

डोसा ने दक्षिण भारत को दुनिया के हर पाक  हॉटस्पॉट पर रखा है हम आपको डोसा बनाने के तरीके के बारे में विस्तृत स्टेप बाय स्टेप रेसिपी के साथ दिखाते हैं कि कैसे सही डोसा बनाया जाता है | नीचे हमने Masala Dosa Kese Banta Hai पूरी डिटेल्ड में जानकारी दी है |

1) सामग्री – (Ingredients For Masala Dosa)

  • 2 कप (हल्के उबले हुए) चावल
  • 1/2 कप धुली उड़द दाल
  • 1/2 टी स्पून मेथी दाना
  • 2 टी स्पून नमकडोसा पकाने के लिए तेल
  • डोसा पकाने के लिए तेल
  • चपटा तवा

डोसा का मसाला बनाने के लिए:

  • 500 ग्राम उबालकर, टुकड़ों में कटे हुए आलू
  • कटा हुआ, 1 1/2 कप प्याज
  • बारीक कटी हुई, 2 हरी मिर्च
  • 2 टेबल स्पून तेल
  • 1 टी स्पून सरसों के दाने
  • 6-7 कढ़ीपत्ता
  • 2 टी स्पून नमक
  • 1/4 टी स्पून हल्दी पाउडर
  • 1/2 कप पानी

2) मसाला फीलिंग बनाने के लिए आलू भाजी:

  • पैन गर्म करें और इसमें सरसों के दान, प्याज, कढ़ीपत्ता और हरी मिर्च डालें और तेज आंच पर भूनें तब तक भूने जब तक प्याज ट्रांसपेरेंट न हो जाए।
  • इसमें नमक और हल्दी डालकर अच्छे मिक्स करें, आलू डालने से पहले।
  • आलूओं को अच्छे से मिक्स करे और इसमें थोड़ा पानी डालकर 2 से 3 मिनट के लिए पकाएं।

3) वि​धि – (Ingredients For Masala Dosa)

  1. चावल को धोकर एक बर्तन में भिगो दें , दाल और मेथी दाने को दूसरे बर्तन में 5 से 6 घंटे या फिर पूरी रात ​के लिए भिगोएं मौसम के अनुसार।
  2. दाल को स्मूद पीस लें। इसके बाद चावल को पीसकर तैयार कर लें।
  3. इसमें नमक और पानी डालकर बैटर को थोड़ा पतला कर लें। इसे खमीर होने के लिए पूरी रात ऐसे ही रखें या मौसम के अनुसार थोड़ा स्पन्जी होने दें।
  4. अगर बैटर गाढ़ा लगे तो इसे पतला करने के लिए थोड़ा पानी डाल लें। तवा गर्म करने और ब्रुश की मदद से उस पर तेल लगाएं। जब यह पूरी तरह गर्म हो जाए तो इस पर थोड़ा पानी छिड़के और तुरंत इस पर बैटर डालकर फैलाएं, इसे गोलाकार दें।
  5. इसे बहुत तेजी से करे इसके लिए बहुत प्रैक्टिस की जरूर है।
  6. डोसे को फैलाने के बाद आंच को धीमा कर दें और किनारों पर थोड़ा तेल डालें ताकि डोसा अच्छे से सिक सके।
  7. जब किनारे हल्के ब्राउन होने लगे तो पतली करछी से डोसे को हटाएं। डोसे के बीच में स्टफिंग रखें और उसे फोल्ड कर दें।
  8. चटनी और सांभर के साथ सर्व करें।

4) मसाला डोसा में समय

  • कुल समय – 55 मिनट
  • तैयारी का समय – 10 मिनट
  • पकने का समय – 45 मिनट
  • कितने लोगों के लिए – 2

सांभर बनाने के लिए विधि – देखें

नारियल की चटनी बनाने के लिए विधि – देखें

डाउनलोड रेसिपी – (Masala Dosa Kaise Banta Hai In hindi)

मसाला डोसा का मसाला – (Masala Dosa Kaise Banta Hai In hindi)

  • 500 ग्राम उबालकर, टुकड़ों में कटे हुए आलू
  • कटा हुआ, 1 1/2 कप प्याज
  • बारीक कटी हुई, 2 हरी मिर्च
  • 2 टेबल स्पून तेल
  • 1 टी स्पून सरसों के दाने
  • 6-7 कढ़ीपत्ता
  • 2 टी स्पून नमक
  • 1/4 टी स्पून हल्दी पाउडर
  • 1/2 कप पानी

मसाला डोसा का स्वाद – (Masala Dosa Kaise Banta Hai In hindi)

बाहर से कुरकुरा और अंदर से नरम आलू का मसाला और उसकी चटनी लाजवाब

मसाला डोसा के परोसने के तरीके

सांभर के साथ डोसे का बेस्ट कॉम्बिनेशन होता है। सांभर और नारियल की चटनी के साथ नाश्ते या खाने या डिनर में परोसें

डोसा बनाने लिए कुछ नुस्खे / सुझाव For मसाला डोसा

  • आप चाहे तो डोसा सेक ले और आलू के मसले को अलग से परोस दे
  • मैं एकदम पतले दोसे फैलाता हूँ और उसे एक ही साइड से सेकता हूँ लेकिन अगर आप चाहे तो दोनों तरफ से सेक सकते हैं 
  • तवे  को हर बार डोसा बनाने के बाद गीले कपड़े से पोहंचे और उसके बाद ही दूसरा डोसा फैलाएं ऐसा करने से डोसा चिपकेगा नहीं।
  • बैटर बनाते वक्त बासमती या बारीक़ चावल ना ले
  • बैटर ज्यादा गाढ़ा ना हो
  • जब भी दूसरा ढोसा बनायंगे तवे पर केवल पानी के छिट्टे मारेंगे 
  • ध्यान रहे कि चावल को पीसने के लिए उड़द की दाल तुलना में कम पानी की आवश्यकता होती है
  • बैटर बनाने के लिए गर्मी में 11 से 12 घंटे, सर्दियों में 23 से 24 घंटे दाल और चावल के पेस्ट को मौसम के अनुसार ढक कर रख दें

डोसा को तवे से चिपकने से रोकने के लिए कुछ पॉइंट है – For मसाला डोसा

  1. पहला डोसा बनाने से पहले तवे पर अच्छी से तेल लगा ले
  2. ध्यान रहे की घोल फैलाने से पहले तवा अच्छे से गर्म है | तवा पर्याप्त गर्म है या नहीं उसकी जांच करने के लिए, गरम तवे की सतह पर पानी की कुछ बूंदे छिड़कें और अगर पानी कुछ ही सेकेंड के भीतर सूख जाता है तो  तवा तैयार है |
  3. प्रत्येक डोसा बनाने से पहले साफ़ गीले कपड़े से तवे को साफ कर ले, यह दोसा को तवे से चिपकने से रोकने के लिए जरूरी है |
  4. फर्मेंट किया हुआ डोसा का घोल 3 से 4 दिनों के लिए फ्रिज में रखा जा सकता है |
  5. अगर आप फ्रीज में रखे घोल का इस्तेमाल कर रहे हैं तो इसे डोसा बनाने के 30 मिनट पहले फ्रीज से बाहर निकाल लें |

निष्कर्ष – (Masala Dosa Kaise Banta Hai In hindi)

हमें उम्मीद है कि आपको Masala Dosa Kaise Banta Hai के बारे में हमारा पूरा लेख पसंद आया होगा। यह जानकारी हमने कई माध्यमों से जुटाई है। हमारी वेबसाइट सटीकता के संबंध में कोई गारंटी नहीं देती है। जानकारी उपलब्ध होने पर यह परिवर्तन के अधीन है।

FAQs – (Masala Dosa Kaise Banta Hai In hindi)

डोसा किस चीज से बनता है?

डोसा मूल रूप से कुरकुरे या नरम क्रेप्स होते हैं जिन्हें दाल और चावल के घोल से बनाया जाता है । बैटर बनाने के लिए सबसे पहले दाल और चावल को 4 से 5 घंटे के लिए पानी में भिगो दें|

मद्रास मसाला डोसा क्या है?

मसाला डोसा, जिसे मसाला डोज़ी भी कहा जाता है, एक दक्षिण भारतीय व्यंजन है। यह एक प्रकार का डोसा है और इसकी उत्पत्ति कर्नाटक के उडुपी शहर में हुई है। इसे चावल, दाल, उड़द की दाल, चना दाल, मेथी, मुरमुरे, तूर दाल, सूखी लाल मिर्च से बनाया जाता है और आलू की सब्जी, चटनी और सांबर के साथ परोसा जाता है।

मैसूर मसाला किस चीज से बनता है?

– 500 ग्राम उबालकर, टुकड़ों में कटे हुए आलू
– कटा हुआ, 1 1/2 कप प्याज
– बारीक कटी हुई, 2 हरी मिर्च
– 2 टेबल स्पून तेल
– 1 टी स्पून सरसों के दाने
– 6-7 कढ़ीपत्ता
– 2 टी स्पून नमक
– 1/4 टी स्पून हल्दी पाउडर
– 1/2 कप पानी

मसाला डोसा की खोज किसने की थी?

थंकप्पन नायर, डोसा की उत्पत्ति वर्तमान कर्नाटक के उडुपी शहर में हुई थी। हालांकि, खाद्य इतिहासकार के टी आचार्य के अनुसार, संगम साहित्य के संदर्भों से पता चलता है कि डोसा प्राचीन तमिल देश में पहली शताब्दी सीई के आसपास पहले से ही उपयोग में था।

क्या डोसा सेहत के लिए हानिकारक है?

डोसे में पाई जाने वाली कैलोरी की मात्रा किसी व्यक्ति को पूरे दिन में जरुरत के हिसाब से मिलने वाली मात्रा से आधी होती है, जो कि हानिकारक है। यह रिसर्च बेंगलुरु में बेचे जाने वाले डोसे पर की गई।

डोसा कहाँ का प्रसिद्ध है?

डोसा की उत्पत्ति कर्नाटक के उडुपी शहर में हुई थी और इसका आविष्कार एक ब्राह्मण रसोइए द्वारा जंगली पक्ष में जाने की कोशिश में किया गया था। ऐसी मान्यता है कि ब्राह्मण समाज को शराब की अनुमति नहीं थी, इसलिए उन्होंने चावल के साथ खमीर उठाकर डोसा की उत्पत्ति की।

डोसा के लिए चावल कितने घंटे भिगोने की जरूरत है?

उबले हुए चावल, कच्चे चावल, गाढ़े पोहा और ज़रुरत मात्रा में पानी को धोकर एक गहरे बाउल में भिगोकर अच्छी तरह मिला लें। ढक्कन से ढककर 4 घंटे के लिए भिगोने के लिए अलग रख दें।

दुनिया का सबसे लंबा डोसा कौन सा है?

शुक्रवार को आईआईटी मद्रास कैंपस में 60 शेफ की टीम ने मिलकर 100 फुट लंबा डोसा बनाया। इस टीम को हेड शेफ विनोथ कुमार कर रहे थे जो पांच बार वर्ल्ड रेकॉर्ड में अपना नाम दर्ज करवा चुके हैं। 100 फुट लंबे इस डोसे को 37.5 किलो के घोल से तैयार किया गया था।

डोसा कितने प्रकार के होते हैं?

डोसा कई तरीके के बनाये जाते है, जैसे सादा डोसा , मसाला डोसा, पेपर डोसा और पनीर डोसा इत्यादि. डोसा और सांबर आप अपने लन्च या डिनर किसी भी खाने या छुट्टी के दिन के नाश्ता में कभी बना कर खा सकते हैं, ये आपको हमेशा पसन्द आयेंगे.

इडली डोसा में कौन सा जीवाणु पाया जाता है?

लैक्टोबैसिलस ग्राम-पॉजिटिव, एरोटोलरेंट एनारोबेस या माइक्रोएरोफिलिक, रॉड के आकार का, गैर-बीजाणु बनाने वाले बैक्टीरिया का एक जीनस है।

भारत में डोसा कितने प्रकार के होते हैं?

डोसा रेसिपी: मसाला डोसा, पनीर डोसा, मैसूर मसाला डोसा, नीर डोसा, प्याज रवा डोसा, नचनी डोसा, मूंग दाल डोसा, अप्पम।

डोसा बनाने में कितना समय लगता है?

गर्मियों में, घोल 6-8 घंटे के भीतर फरमेंट हो जाता है, लेकिन सर्दियों में 12-14 घंटे तक लग जाते हैं । ध्यान रहे कि घोल पीसने के समय पर गर्म न हो; अन्यथा घोल ठीक से फरमेंट नहीं होगा। अगर आप बड़ी मात्रा में घोल बना रहे है तो दाल और चावल को बैचो (बारी में थोड़ा थोड़ा पीसे) में पीसे।

मैसूर मसाला डोसा किस चीज से बनता है?

मैसूर मसाला डोसा एक चावल और दाल का पैनकेक है जिसके अंदर मिर्च और लहसुन की चटनी होती है और इसे आलू भाजी के साथ भरकर एक साधारण नारियल की चटनी के साथ परोसा जाता है। इसे सांभर और चटनी के साथ परोसा जाता है|

Click to rate this post!
[Total: 0 Average: 0]

Leave a comment